Home Essay Essay On Online Education in Hindi – ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध

Essay On Online Education in Hindi – ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध

20
0

Friends, Smart Technology की वजह से आज online education संभव हो गया है जिसका फायदा अब लाखों students उठा रहे हैं, online study करना इतना आसान है कि छोटे बच्चे भी easily online classes join कर लेते हैं, अभी के युग में ऑनलाइन शिक्षा पढ़ाई करने का digital तरीका है इसके कई फायदे हमें देखने को मिले हैं इसलिए पूरी संभावना है कि भविष्य में डिजिटल शिक्षा हमें और बेहतर देखने को मिले। 

दोस्तों आज का लेख भी इसी विषय पर है जिसमें आप पढ़ेंगे Essay On Online Education in Hindi – ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध हिन्दी में। अगर आप online शिक्षा पर hindi में essay खोज रहे हैं तो यह post आपके लिए ही है जो online education par nibandh लिखने में आपकी help करेगा, आइए प्रारंभ करते हैं।

Essay On Online Education in Hindi – ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध 

Essay On Online Education in Hindi

ऑनलाइन शिक्षा क्या है? –

इंटरनेट तथा सोशल मीडिया के माध्यम से दी जाने वाली शिक्षा ऑनलाइन शिक्षा (online education) कहलाती है, ऑनलाइन क्लास के द्वारा शिक्षक तथा विद्यार्थी मोबाइल ऐप्स के द्वारा संपर्क कर पाते हैं और सवाल जवाब कर पाते हैं। ऑनलाइन कक्षा में शामिल होने के लिए मुख्य रूप से गूगल मीट, जूम, व्हाट्सऐप, वेबेक्स आदि वीडियो कांफ्रेंसिंग ऐप का उपयोग किया जाता है। सभी विषयों की क्लास के लिए समय पहले से निर्धारित होता है ताकि विद्यार्थी  ऑनलाइन शिक्षा के लिए समय निकाल सके।

ऑनलाइन शिक्षा के फायदे –

तेजी से बढ़ती तकनीक और वक्त के साथ शिक्षक और विद्यार्थी भी तकनीक से जुड़ रहें है शिक्षण कार्य कर रहें, बच्चे ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं, जिस प्रकार पारंपरिक रूप से शिक्षा दिया जाता है उसी तरह अब ऑनलाइन शिक्षा के फायदे भी देखे जा सकते हैं –

(1) पढ़ाई में रुचि –

ऑनलाइन कक्षाओं में विद्यार्थियों की अधिक रूचि देखने को मिलती है क्योंकि इसमें शिक्षक द्वारा पढ़ाई हेतु अलग-अलग संसाधनों का उपयोग किया जाता है जैसे वाइट बोर्ड, डिजिटल तरीके जिनके द्वारा पढ़ाई को रोचक बनाया जा सके आदि का उपयोग होता है। 

इस प्रकार की कक्षा में शिक्षक अपने पढ़ाने के तरीके में भी बदलाव लाते हैं जिनकी वजह से बच्चों को सवालों का जवाब या कॉन्सेप्ट याद करने में आसानी हो, विज्ञान, रसायन, भौतिकी तथा इतिहास से संबंधित पढ़ाई के लिए डिजिटल चित्रों का उपयोग किया जाता है इससे चीजों की क्रियाविधि समझने में आसानी होती है।

(2) शिक्षक से कभी भी सवालों का जवाब पाना –

विद्यालय की पढ़ाई के दौरान अक्सर पूछे जाने वाले सवालों को ऑनलाइन क्लास के दौरान भी पूछा जा सकता है क्योंकि पढ़ाई के समय शिक्षक और सभी विद्यार्थी बातों को सुन सकते हैं, यदि वीडियो कॉलिंग द्वारा पढ़ाई हो रही हो तो इस स्थिति में शिक्षक को देखा – सुना जा सकता है।

यदि क्लास समाप्त हो जाए तो भी बाद में कभी भी अपने प्रश्नों का उत्तर पा सकते हैं इसके लिए फोन कॉल या व्हाट्सऐप का इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि आजकल तो व्हाट्सऐप पर अलग अलग विषयों के लिए अलग अलग ग्रुप भी बनाने लगे हैं जिसमें उसी विषय के पढ़ाई से संबंधित बातें या सवाल जवाब होते हैं।

(3) तकनीकी चीजों का ज्ञान –

हमारे देश के कई बच्चों ने पहली बार सोशल मीडिया के द्वारा ऑनलाइन कक्षाएं प्राप्त की है इसमें उन्होंने शिक्षा के साथ-साथ तकनीकी चीजों के बारे में भी जानकारी हासिल किया है, भारत में लॉकडॉन के दौरान कुछ बच्चे को डिजिटल तरीके से क्लॉस में शामिल होना नही आता था पर इस विषय में भी सभी जानकारी हो गई है। ऑनलाइन शिक्षा के बाद से कई बच्चों को तकनीकी चीजों को जानने समझने का मौका मिला है।

(4) प्रश्नों का सटीक उत्तर –

जब विद्यार्थी विद्यालय में होता है तब वह विषय संबंधित शिक्षक को पाठ से संबंधित सवाल पूछ कर उसका जवाब आ सकता है लेकिन यदि वह घर में हो उसे किसी महत्वपूर्ण सवाल का जवाब सही सही चाहिए तो इस स्थिति में वह ऑनलाइन इसकी जानकारी प्राप्त कर सकता है।

विद्यार्थियों को अब अच्छे से पता है कि उनके पाठ से संबंधित लेख इंटरनेट पर भी उपलब्ध है इसलिए जब भी किसी विषय की जानकारी चाहिए होती है तो गूगल पर जाकर अपनी क्वेरी खोज लेते हैं और सम्पूर्ण जानकारी फोन स्क्रीन पर आ जाती है।

(5) ऐप्स पर पढ़ाई की बातें –

जब हमारे देश में ऑनलाइन शिक्षा का उपयोग अधिक नहीं होता था तब विद्यार्थी सोशल मीडिया ऐप्स पर मित्रों से गपशप, बातें करने में समय व्यतीत करते थे लेकिन जब से ऑनलाइन शिक्षा बढ़ी तब से अभी के विद्यार्थी व्हाट्सऐप पर पढ़ाई से जुड़ी चैटिंग करने लगे हैं।

ऑनलाइन शिक्षा के नुकसान –

(1) पढ़ाई पर ध्यान न देना –

वैसे तो ऑनलाइन कक्षाओं में आसान से आसान तरीका अपनाया जाता है विद्यार्थियों को अपनी बातें समझाने के लिए लेकिन कुछ बच्चे इस तरह के पढ़ाई में अधिक रूचि नहीं देते उनका ध्यान पढ़ाई में नहीं लगता इसलिए ऐसा भी देखा जाता है कि जब शिक्षक ऑनलाइन क्लास लेते हैं तब कुछ बच्चे अपने फोन के कैमरे तथा ऑडियो को ऑफ कर लेते हैं।

(2) ऑनलाइन क्लास में शामिल न होना –

ऑनलाइन कक्षा में शिक्षक अपने सभी विद्यार्थियों पर ध्यान नहीं दे पाते इस वजह से कभी-कभी कुछ विद्यार्थी क्लास में शामिल ही नहीं होते। 

छात्रों द्वारा कक्षा में शामिल होने में विलंब भी होता है यदि शिक्षक द्वारा क्लास में देरी होने का कारण पूछा जाए तो बच्चे तरह-तरह के बहाने बनाते हैं

(3) इंटरनेट तथा नेटवर्क संबंधी समस्या –

हमारे देश में ऐसे क्षेत्रों में भी बच्चे पढ़ते हैं जहां मोबाइल टॉवर सही से नहीं पहुंच पाता है ऐसे में उन्हें ऑनलाइन क्लास अटेंड करने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है नेटवर्क ना मिलने की वजह से इंटरनेट काम नहीं करता है और क्लास ज्वाइन नहीं कर पाते, शिक्षक के बातों को स्पष्ट रूप से सुनना मुश्किल हो जाता है इसलिए कई बच्चे घर से थोड़ी दूर जहां नेटवर्क अच्छा मिलता हो वहां जाकर पढ़ाई करते हैं।

(4) बच्चों में मोबाइल की लत –

बच्चे मोबाइल की मदद से भले ही पढ़ाई करते हो लेकिन ऑनलाइन क्लास के बहाने बच्चे अपना ज्यादातर टाइम फोन पर गेम्स खेलने और इंटरटेनमेंट संबंधित चीजों को देखने सुनने में लगाते हैं इसके वजह से वह पढ़ाई पर कम और अन्य एक्टिविटी पर अधिक ध्यान देते हैं इसकी वजह से उन्हें मोबाइल की लत लग जाती है कई बच्चे तो फोन को खुद से दूर ही नहीं करते। जरूरी बातचीत पर उनका ध्यान ही नहीं रहता और खाना खाते समय भी फोन का इस्तेमाल किया करते हैं।

(5) इंटरनेट का हद से अधिक उपयोग है हानिकारक –

किसी भी चीज की अत्यधिक उपयोग करना नुकसानदायक होता है कुछ बच्चे ऑनलाइन कक्षाओं के बहाने मोबाइल पर अपना पसंदीदा गेम्स खेलते हैं, सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कुछ ज्यादा ही समय व्यतीत कर देते हैं उनका दिन भर यही सब कामों में बीत जाता है इससे उनकी शारीरिक गतिविधियां (खेल-कूद) नहीं होती है और इसी वजह से मोटापे की समस्या, नेत्र रोग संबंधित समस्या होने की संभावना बनी रहती है। इसके अलावा हर समय नेटवर्क में रहना सही नहीं है क्योंकि नेटवर्क से निकलने वाली हाई रेडिएशन हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है।

उपसंहार –

शिक्षा विद्यालयों में दिया जाए या ऑनलाइन कक्षाओं में, मन लगाकर गंभीरता से पढ़ाई करना विद्यार्थियों के हाथ में होता है, यदि छात्र – छात्राओं में पढ़ाई के प्रति गहरी लगन हो तो वह पढ़ाई के कई तरीके निकाल लेता है, आज दुनिया में ज्ञान प्राप्त करना कितना आसान हो गया है, तरह – तरह के टेक्नोलॉजी आ चुके हैं जो छात्रों की पढ़ाई को रोचक तथा आसान बना देता है, इंटरनेट द्वारा भी ज्ञान अर्जित किया जा सकता है लेकिन फिर भी कुछ बच्चे पढ़ाई करने के बजाय मोबाइल पर घंटों तक वीडियो गेम्स खेलते रहते हैं।

ऑनलाइन शिक्षा, ज्ञान प्राप्त करने का एक रोचक तथा सरल तरीका है इसलिए सभी विद्यार्थियों को इसका लाभ उठाना चाहिए ।

ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध 10 लाइन – 10 Line Essay on Online Education in Hindi

(1) ऑनलाइन शिक्षा के द्वारा विद्यार्थी तथा विषय शिक्षक computer या mobile phones के द्वारा digitally connected होकर पढ़ाई करते हैं। 

(2) ऑनलाइन कक्षाओं के लिए mobile device, video conferencing app का उपयोग किया जाता है इसके माध्यम से ऑडियो, वीडियो देख सुन पाते हैं, Online classes के लिए application जरूरी होता है।

(3) इस तरह के पढ़ाई में अधिक ध्यान शिक्षक के बातों को सुनने में तथा डिप्सप्ले में दिख रहे चित्रों की मदद से बातों को समझने में होता है, कॉपी – पेन का उपयोग कम किया जाता है।

(4) ऑनलाइन क्लास के जरिए एक शिक्षक सैकड़ों या हजारों छात्र – छात्राओं को एक साथ एक ही समय पर पढ़ा सकता है सभी बच्चे शिक्षक के बातों को सुन और समझ सकते हैं।

(5) यह पढ़ाई करने का बेहतरीन विकल्प है लेकिन कुछ बच्चों को इस तरह से पढ़ाई करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, कारण मोबाइल या लैपटॉप न होना ऐसी स्थिति में वे ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं हो पाते, इसलिए ऐसे छात्र कभी कभी अपने मित्रों के मोबाइल डिवाइस पर एक साथ बैठकर पढ़ाई करते हैं।

(6) Online education या digitally study करने हेतु internet connection का होना अनिवार्य होता है।

(7) ऐसे विद्यार्थी जो विकलांग है यानी वे स्कूल चलकर नहीं जा सकते तो इस स्थिति में उनके लिए ऑनलाइन कक्षाएं बहुत फायदेमंद होते हैं।

(8) आजकल schools में computer classes होते हैं जिसमें कंप्यूटर चलाना सिखाया जाता है लेकिन इसी को digital way में online education के जरिए भी सीखा जा सकता है, इसके लिए internet पर tutorials available हैं।

(9) ऑनलाइन शिक्षा के फायदे के साथ कुछ नुकसान भी होते हैं जैसे बच्चों में मोबाइल की लत लगना, online classes के दौरान अपने दोस्तों के साथ social media apps पर chatting करना, बहाना बना कर class attend ना करना आदि।

(10) देश में लगे लॉकडाउन के दौरान online education का बहुत महत्व रहा, इसके द्वारा students की study continue हो पाई, साथ ही छात्र – छात्राओं ने पढ़ाई करने का नया तरीका को जाना तथा अपनाया।

Final words –

I hope आपको यह post पसंद आया हो इसके माध्यम से मैने Essay On Online Education in Hindi आपके साथ share किया है यदि लेख पसंद आए तो उसे अपने friends के साथ social media platforms पर जरूर share करें साथ इस लेख से संबंधित किसी भी प्रकार का questions पूछने के लिए comment करिए। Thank you!
Previous articlePaytm Wallet Me Paise Kaise Add Kare | Paytm Me Paise Kaise Dale?
Next articleFacebook Story Video Download Kaise Kare With Music Online

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here